featured

फ्लोरेंस नाइटिंगेल की कहानी

वर्तमान युग में अस्पतालों के प्रबंधन और रोगियों के स्वास्थ्य लाभ में नर्सों का विशेष महत्त्व है. नर्सों को सम्मान की दृष्टि से देखा जाता है. लेकिन 19वीं शताब्दी के मध्य तक की स्थिति इसके सर्वथा विपरीत थी. नर्स का कार्य बहुत घटिया समझा जाता था. निम्न वर्ग की महिलाएं ही इस पेशे में आती थीं. उनमें से … [Read More...]

Paulo Coelho

हम स्त्रियों से प्रेम क्यों करते हैं?

यह पोस्ट पाउलो कोएलो के ब्लॉग से लेकर पोस्ट की गयी है. कुछ सप्ताह पहले मैंने Why women love men पोस्ट की थी. कुछ पाठकों ने मुझसे इसपर लिखने के लिए कहा कि हम स्त्रियों से प्रेम क्यों करते हैं. मैं … [Read More...]

ghost hkd

पांच मिनट

रेगिस्तान में एक आदमी के पास यमदूत आया लेकिन आदमी उसे पहचान नहीं सका और उसने उसे पानी पिलाया. "मैं मृत्युलोक से तुम्हारे प्राण लेने आया हूँ" - यमदूत ने कहा - "लेकिन तुम अच्छे आदमी लगते हो इसलिए मैं … [Read More...]

Osho Stories

स्व में होना ही दुःख-निरोध है

रात्रि घनी हो रही है. आकाश में थोड़े से तारे हैं और पश्चिम में खंडित चांद लटका हुआ है. बेला खिली है और उसकी गंध हवा में तैर रही है. मैं एक महिला को द्वार तक छोड़कर वापस लौटा हूं. में उन्हें जानता नहीं … [Read More...]

hafiz

परमात्मा की पुकार

ईरान के सूफ़ी महाकवि हाफ़िज़ {ख्वाज़ा शमसुद्दीन मुहम्मद हाफ़िज़-ए-शीराज़ी (1315 - 1390)} का दीवान अधिकाँश ईरानियों के घर में पाया जाता है. उनकी कविताएँ और सूक्तियां हर मौके पर पढ़ी और प्रयुक्त की जाती … [Read More...]

random entries

Attitude (नज़रिया), Awareness (जागरूकता) और Authenticity (प्रामाणिकता)

एक पोस्ट पहले मैंने आपको ब्लॉगर नील पसरीचा के बारे में बताया था और उनका एक वीडियो भी पोस्ट किया था. उस वीडियो का मैंने अनुवाद कर लिया है जो इस पोस्ट की विषयवस्तु है. चूंकि वीडियो का अनुवाद सबटाइटल्स … [Read More...]

तुलना कैसी? : No Comparison!

एक समुराई अपनी वीरता और सत्यप्रियता के लिए प्रसिद्द था. वह एक ज़ेन गुरु के पास एक समस्या का उपाय जानने के लिए गया. जब ज़ेन गुरु ने अपनी प्रार्थना पूरी कर ली, समुराई ने पूछा: "मैं स्वयं को बहुत हीन अनुभव … [Read More...]

risks

जीवन के जोखिम

हंसने में मूर्ख समझ लिए जाने का खतरा है. रोयें तो भावुक मान लिए जाने का खतरा है. उंगली थमा दें तो हाथ जकड़े जाने का खतरा है. अपनी बात रखें तो चुप कराये जाने का खतरा है. किसी का कुछ ज़ाहिर कर दें तो … [Read More...]

love.jpg

कैंची और सुई : Scissors and Needle

यह कथा महान सूफी संत फ़रीद के बारे में है. एक बार कोई राजा फ़रीद से मिलने के लिए आया और अपने साथ उपहार में सोने की एक बहुत सुंदर कैंची लाया जिसमें हीरे जड़े हुए थे. यह कैंची बेशकीमती, अनूठी और नायाब … [Read More...]

कैसा विरोध? कैसी आलोचना?

हिंदी ब्लॉग जगत में आयेदिन घमासान मच रहा है. सबकी अपनी-अपनी सोच है और बात को रखने का अपना-अपना अंदाज. देखने में यही आ रहा है कि आलोचना का स्वर बड़ा मुखर है. कोई बात किसी को जमी नहीं कि दन्न से एक … [Read More...]

Sigrid_Undset_crop.jpg

ममता

नॉर्वे की महान लेखिका सिग्रिड अनसेट (Sigrid Undset) को १९२८ में साहित्य का नोबल पुरस्कार देने की घोषणा की गई। उन दिनों आज की तरह संचार माध्यम नहीं थे - ख़बरों को दुनिया भर में फैलने में कुछ समय लग … [Read More...]

मुल्ला नसरुद्दीन : खुशबू की कीमत

राह चलते एक भिखारी को किसी ने चंद रोटियां दे दीं लेकिन साथ में खाने के लिए सब्जी नहीं दी. भिखारी एक सराय में गया और उसने सराय-मालिक से खाने के लिए थोड़ी सी सब्जी मांगी. सराय-मालिक ने उसे झिड़ककर दफा कर … [Read More...]