featured

father and son

बच्चों को जिम्मेदार व स्वावलंबी बनाने के लिए ज़रूरी 10 बातें

हम अपने बच्चों को सारी खुशियां देना चाहते हैं क्योंकि हममें से बहुतों ने बहुत सादा बचपन बिताया. हमारे पैरेंट्स के पास विकल्प सीमित थे इसलिए हम अपने बच्चों को उन चीजों से वंचित नहीं रखना चाहते जो हमें उपलब्ध नहीं थीं. लेकिन हममें से कई पैरेंट्स अपने बच्चों के प्रति इतना अधिक स्नेह रखते हैं कि वे बच्चों में घर कर रही बुरी आदतों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और उन्हें स्वावलंबी नहीं बनाते. यदि आप ऐसे माता-पिता हैं तो बहुत जल्द ही चीजें आपके नियंत्रण से बाहर हो जाएंगी. निस्संदेह आप अपने बच्चों से बहुत … [Read More...]

Paulo Coelho

4072133626_376c5d0547.jpg

शैतान की दुकान : Satan Opens a Shop

बदलती हुई दुनिया के साथ कदम मिलाकर चलने की इच्छा से शैतान ने यह तय किया कि वह अपने प्रलोभनों के पुराने स्टॉक को सस्ते में निकाल देगा. उसने अखबार में इसके लिए एक विज्ञापन भी छपवा दिया और उसकी दुकान में … [Read More...]

bird in hand

चुनौती : A Challenge

युवक शिष्य का दीक्षाकाल समाप्त होने वाला है. निकट भविष्य में वह भी किसी आश्रम का संचालन करेगा. आश्रम छोड़ने से पहले वह यह जान लेना चाहता है कि वह अपने गुरु को भी चुनौती देने और परास्त करने में सक्षम … [Read More...]

Osho Stories

stillness-by-alice-popkorn.jpg

सूर्य पर ध्यान दो!

''मनुष्य शुभ है या अशुभ?'' मैंने कहा, स्वरूपत: शुभ. और, इस आशा व अपेक्षा को सबल होने दो. क्योंकि जीवन के ऊर्ध्वगमन के लिए इससे अधिक महत्वपूर्ण और कुछ नहीं है.'' एक राजा की कथा है जिसने अपने तीन … [Read More...]

time-flies-by-hkd1.jpg

भविष्य में छलांग

मैंने सुना है, एक वृद्ध व्यक्ति हवाईजहाज से न्यूयार्क जा रहा था. बीच के एक एयरपोर्ट पर एक युवक भी उसमें सवार हुआ. उस युवक के बैग को देखकर लगता था कि वह शायद किसी इंश्योरेंस कंपनी का एक्जीक्यूटिव था. … [Read More...]

random entries

vase

त्याग : Sacrifice

"मैं सब कुछ छोड़ने के लिए तैयार हूँ" - एक राजकुमार ने गुरु से कहा - "कृपया मुझे अपना शिष्य बना लीजिये"."ठीक है. लेकिन पहले तुम मुझे इस प्रश्न का उत्तर दो कि मनुष्य ज्ञान के पथ का चयन कैसे करता है?" … [Read More...]

480px-Paul_Julius_Reuter_1869.jpg

रॉयटर्स का प्रारम्भ

समाचार पत्रों के पाठक विश्व की सबसे बड़ी समाचार एजेंसी रॉयटर्स के नाम से भली भांति परिचित हैं लेकिन बहुत कम लोग यह जानते हैं कि किन कठिन परिस्थितियों में और कितने कम साधनों से इसका प्रारम्भ हुआ … [Read More...]

दो आलसी

किसी समय एक राज्य में बहुत सारे आलसी लोग हो गए। उन्होंने सारा काम-धाम करना छोड़ दिया। वे अपने लिए खाना भी नहीं बनाते थे। एक दिन सभी आलसियों ने राजा से जाकर कहा कि राजा को आलसियों के लिए एक आश्रम बनवाना … [Read More...]

blog

ब्लॉगरों के लिए एक चैकलिस्ट

इस ब्लॉग पर काम करते हुए दो साल से ज्यादा होने जा रहे हैं. इस अवसर पर मैंने सोचा कि पोस्ट लिखकर 'पब्लिश' का बटन दबाने से पहले मैं जो तयारी करता हूँ उसके बारे में अपने पाठकों को बताऊँ. मुझे यकीन है कि … [Read More...]

two-wolves.jpg

दो भेड़िये : Two Wolves

एक गुरु नदी के किनारे अपने शिष्य के साथ बैठकर वार्तालाप कर रहा था. शिष्य अभी बहुत छोटा था और उसने गुरु से अच्छाई और बुराई के बारे में कुछ पूछा. "तुम जानते हो, हमारे भीतर हमेशा एक युद्ध चलता रहता है" - … [Read More...]

albert einstein childhood photo

जिज्ञासु बालक

छः साल के बालक अल्बर्ट आइंस्टाइन को जर्मनी के म्यूनिख शहर के सबसे अच्छे स्कूल में भरती किया गया। इन स्कूलों को उन दिनों जिम्नेजियम कहा जाता था और उनकी पढ़ाई दस वर्षों में पूरी होती थी।इस बालक के … [Read More...]

gandhibelongings2.jpg

गांधीजी के सिखाये हुए मितव्ययता और अपरिग्रह के पांच पाठ

क्या आप मितव्ययता और अपरिग्रह के पाठ ग्रहण करना चाहते हैं? गांधीजी के जीवन और दर्शन में मितव्ययता और अपरिग्रह के सर्वश्रेष्ठ सूत्रों का सार मिलता है. उन्होंने अपने जीवन के हर पक्ष में सादगी और … [Read More...]