Posts Tagged 'हिरण'

मनुष्य की उदासी

मनुष्य की उदासी

मनुष्य गहरी निराशा के क्षणों में अकेला बैठा था. तब सभी जीव-जंतु उसके निकट आए और उससे बोलेः- “तुम्हें इस…