दो भेड़िये : Two Wolves

two wolves


एक गुरु नदी के किनारे अपने शिष्य के साथ बैठकर वार्तालाप कर रहा था.

शिष्य अभी बहुत छोटा था और उसने गुरु से अच्छाई और बुराई के बारे में कुछ पूछा.

“तुम जानते हो, हमारे भीतर हमेशा एक युद्ध चलता रहता है” – गुरु ने शिष्य से कहा – “दो भेड़ियों के बीच एक अंतहीन रक्तरंजित युद्ध”.

“पहला भेड़िया बुरा और वीभत्स है. वह क्रोध, शत्रुता, लोभ, निंदा, दुःख, पश्चाताप, हीनता, असत्य, अंहकार, स्वार्थ, दंभ, अवसरवादिता, प्रमाद, हठ, और मत्सर्य आदि से बना है”.

“और दूसरा भेड़िया अच्छा और सुन्दर है. वह मित्रता, प्रसन्नता, शांति, प्रेम, आशा, मानवता, दयालुता, दान, न्याय, समानुभूति, सत्य, करुणा, नैतिकता, और गहनता आदि से बना है”.

“ऐसे ही दो भेड़ियों के बीच तुम्हारे भीतर भी द्वंद्व छिड़ा हुआ है… और हर मनुष्य के भीतर भी”.

शिष्य ने बहुत तल्लीनता और चिन्तनपूर्वक गुरु की बात सुनी. फिर उसने गुरु से पूछा – “इनमें से कौन सा भेड़िया जीत जाता है?”

गुरु ने कहा – “वह जिसे तुम भोजन और पोषण देते हो”.

चित्र साभार – फ्लिकर

(Two warring wolves – story about goodness and evil – in Hindi)

A Native American grandfather was talking to his grandson about how he felt.
He said, “I feel as if I have two wolves fighting in my heart.
One wolf is the vengeful, angry, violent one.
The other wolf is the loving, compassionate one.”
The grandson asked him, “Which wolf will win the fight in your heart?”
The grandfather answered, “The one I feed.”

Advertisements

About Nishant Mishra

Nishant studied art history and literature at the university during 1990s. He works as a translator in New Delhi, India and likes to read about arts, photography, films, life-lessons and Zen.

There are 9 comments

टिप्पणी देने के लिए समुचित विकल्प चुनें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s