सपना : A Dream

demon
एक पुरानी कहानी में एक औरत को हर रात यह सपना आता है कि एक बड़े भुतहे से मकान में एक दैत्य उसका पीछा कर रहा है। रात-दर-रात यही सपना उसे डराता रहता है। सपने में उसे लगता है कि दैत्य के नुकीले पंजे उसे अगले ही पल अपनी गिरफ्त में ले लेंगे और…

यह सब उसे बहुत वास्तविक लगता है।

और फ़िर एक रात वही सपना फ़िर से आता है। इस बार दैत्य बेचारी औरत को घेर लेता है। वह अब ऐसे कोने में फंस गई है कि वहां से बाहर बच निकलने का कोई रास्ता नहीं है। मौत सामने देखकर औरत दैत्य से पूछने का साहस कर बैठती है:

“तुम कौन हो!? मेरा पीछा क्यों करते हो? क्या तुम मुझे मार डालोगे?”

यह सुनकर दैत्य रुक गया। उसके भयानक चेहरे पर विस्मय के भाव उभर आए। अपनी कमर पर दोनों हाथ रखकर वह मासूमियत से बोला – “यह मैं कैसे बता सकता हूँ!? ये तो तुम्हारा सपना है!”

(~_~)

An old story tells of a woman who dreams every night that she is being chased, throughout a big haunted house, by a hulking monster.

Night after night, the hideous thing runs after her, its breath like acid on the back of her neck… It all seems so real…

Finally one night, the dream begins again, but this time the beast corners the poor terrified woman, and just as it’s about to tear her apart, the woman finds her voice and shrieks: “What are you! Why are you chasing me! What will you do to me!”

At that, the monster stops, straightens up, and with a puzzled expression, puts its hands on its hips and says, “How should I know? It’s your dream.”

Advertisements

About Nishant Mishra

Nishant studied art history and literature at the university during 1990s. He works as a translator in New Delhi, India and likes to read about arts, photography, films, life-lessons and Zen.

There are 2 comments

टिप्पणी देने के लिए समुचित विकल्प चुनें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s