featured

father and son

बच्चों को जिम्मेदार व स्वावलंबी बनाने के लिए ज़रूरी 10 बातें

हम अपने बच्चों को सारी खुशियां देना चाहते हैं क्योंकि हममें से बहुतों ने बहुत सादा बचपन बिताया. हमारे पैरेंट्स के पास विकल्प सीमित थे इसलिए हम अपने बच्चों को उन चीजों से वंचित नहीं रखना चाहते जो हमें उपलब्ध नहीं थीं. लेकिन हममें से कई पैरेंट्स अपने बच्चों के प्रति इतना अधिक स्नेह रखते हैं कि वे बच्चों में घर कर रही बुरी आदतों को नज़रअंदाज़ कर देते हैं और उन्हें स्वावलंबी नहीं बनाते. यदि आप ऐसे माता-पिता हैं तो बहुत जल्द ही चीजें आपके नियंत्रण से बाहर हो जाएंगी. निस्संदेह आप अपने बच्चों से बहुत … [Read More...]

Paulo Coelho

tell-your-story

Tell Your Story… – अपनी कथा कहो…

महान रब्बाई इज़राएल शेम तोव ने देखा कि उनके लोगों के साथ अन्याय हो रहा है और इसे दूर करने का उपाय करने के लिए वे वन में गए. वहां उन्होंने पवित्र अग्नि प्रज्वलित की और अपने धर्मावलम्बियों की रक्षा के … [Read More...]

hdr fountain

Heaven – स्वर्ग

एक यात्री अपने घोड़े और कुत्ते के साथ सड़क पर चल रहा था. जब वे एक विशालकाय पेड़ के पास से गुज़र रहे थे तब उनपर आसमान से बिजली गिरी और वे तीनों तत्क्षण मर गए. लेकिन उन तीनों को यह प्रतीत नहीं हुआ कि वे … [Read More...]

Osho Stories

house of cards (2)

जगत के रहस्य का ज्ञान ही मुक्ति है

एक परिवार में आमंत्रित था. संध्या हुए ही वहां से लौटा हूं. एक मीठी घटना वहां घटी. बहुत बच्चे उस घर में थे. उन्होंने ताश के पत्तों का एक महल बनाया था. मुझे दिखाने ले गये. सुंदर था. मैंने प्रशंसा की. … [Read More...]

hafiz

परमात्मा की पुकार

ईरान के सूफ़ी महाकवि हाफ़िज़ {ख्वाज़ा शमसुद्दीन मुहम्मद हाफ़िज़-ए-शीराज़ी (1315 - 1390)} का दीवान अधिकाँश ईरानियों के घर में पाया जाता है. उनकी कविताएँ और सूक्तियां हर मौके पर पढ़ी और प्रयुक्त की जाती … [Read More...]

random entries

Ralph-Waldo-Emerson-Action-quote

सत्य की एक झलक

सत्य की एक किरण ही पर्याप्त है. ग्रंथों का भार जो नहीं कर पाता है, सत्य की एक झलक वह कर दिखाती है. अंधेरे में रौशनी के लिए प्रकाश का वर्णन करने वाले बड़े-बड़े शास्त्र किसी काम के नहीं, मिट्टी का एक … [Read More...]

ignorance

स्व-अज्ञान मूर्च्छा है

एक पूर्णिमा की रात्रि मधुशाला से कुछ लोग नदी-तट पर नौका विहार को गये थे. उन्होंने एक नौका को खेया. अर्धरात्रि से प्रभात तक वे अथक पतवार चलाते रहे. सुबह सूरज निकला, ठंडी हवाएं बहीं तो उनकी … [Read More...]

pebbles

त्याग : नश्वर का त्याग, शाश्वत की प्राप्ति

एक गांव में गया था. किसी ने कहा, “धर्म त्याग है”. त्याग बड़ी कठिन और कठोर साधना है. मैं सुनाता था तो एक स्मरण हो आया. छोटा था- बहुत बचपने की बात होगी. कुछ लोगों के साथ नदी-तट पर वन-भोज को गया था. नदी … [Read More...]

life leaf

15 सबक

इस पोस्ट में ज़िंदगी के लिए ज़रूरी सबक दिए गए हैं जिसे मैंने प्रसिद्द ब्लॉग प्लगइन - आईडी (pluginid.com) से लिया है. इस तरह की पोस्टें हिंदीज़ेन पर पहले भी आ चुकी हैं पर हर पोस्ट में कुछ-न-कुछ अलग तो … [Read More...]

swan

नीर-क्षीर विवेक

कुछ लोग कहते है कि हमें किसी की निंदा नहीं करनी चाहिए. किसी को भला, किसी को बुरा कहना राग-द्वेष है. सही भी है, किसी की निंदा करना बुरा है. किन्तु भले और बुरे में सम्यक भेद करना उससे भी कहीं अधिक उत्तम … [Read More...]

flowers

प्रेम

(यह कथा ओशो ने अपने एक प्रवचन में कही है) "प्रेम क्या है?". कल कोई पूछ रहा था. मैंने कहा - "प्रेम जो कुछ भी हो, उसे शब्दों में कहने का कोई उपाय नहीं है क्योंकि वह कोई विचार नहीं है. प्रेम तो … [Read More...]

groucho-marx-quotes

ग्राउचो मार्क्स के बोलवचन

ग्राउचो मार्क्स (1890 - 1977) अमेरिकन कॉमेडियन और फिल्म-स्टार थे. वे अपनी हाज़िर जवाबी और चुटीले कथनों के लिए जाने जाते हैं. आज हिन्दीज़ेन के पाठकों के लिए हर बार से हटकर कुछ अलग. पसंद आनेपर टिप्पणियों … [Read More...]