Skip to content
About these ads

सहनशीलता

सहनशीलता जिसमें नहीं है, वह शीघ्र टूट जाता है. और, जिसने सहनशीलता के कवच को ओढ़ लिया है, जीवन में प्रतिक्षण पड़ती चोटें उसे और मजबूत कर जाती हैं.

मैंने सुना है, एक व्यक्ति किसी लुहार के द्वार से गुजरता था. उसने निहाई पर पड़ते हथौड़े की चोटों को सुना और भीतर झांककर देखा. उसने देखा कि एक कोने में बहुत से हथौड़े टूटकर और विकृत होकर पड़े हुए हैं. समय और उपयोग ने ही उनकी ऐसी गति की होगी. उस व्यक्ति ने लुहार से पूछा, ”इतने हथौड़ों को इस दशा तक पहुंचाने के लिए आपको कितनी निहाइयों की जरूरत पड़ी?” लुहार हंसने लगा और बोला, ”केवल एक ही मित्र. एक ही निहाई सैकड़ों हथौड़ों को तोड़ डालती है, क्योंकि हथौड़े चोट करते हैं और निहाई चोट सहती है.”

यह सत्य है कि अंत में वही जीतता है, जो सभी चोटों को धैर्य से स्वीकार करता है. निहाई पर पड़ती हथौड़ों की चोटों की भांति ही उसके जीवन में भी चोटों की आवाज तो बहुत सुनी जाती है, लेकिन हथौड़े अंतत: टूट जाते हैं और निहाई सुरक्षित बनी रहती है.

प्रस्तुति – ओशो शैलेंद्र

About these ads
10 Comments Post a comment
  1. ARIF #

    Ham sabhi jaanate the ki sahashilata ek achha gun hai. Magar aaj is lekh ko padhakar sahanshilata ka mahatva samajh gaya. Dhanyavad.

    Like

    November 30, 2012
  2. सहने वाला कहने वाले से अधिक शक्ति रखता है..

    Like

    November 30, 2012
  3. बहुत अच्छा सन्देश… :-)

    Like

    November 30, 2012
  4. ऐसा ही कुछ अन्ना हजारे भी समझाते और प्रयोग करते हैं।
    सच में, सहन करना बहुत शक्तिशाली का काम है।

    Like

    November 30, 2012
  5. bahut acchi story and bahut acchi shikh mili hai ………

    aap ko bahut bahut thanks…….. mujhko sach aur gyan dene ke liye……

    Like

    November 30, 2012
  6. sahanshilata niyati hai use gun kaise maana jaye , aur kisi ko banana aakar dena gun hai use durgun kaise mana jaye. har hal men uttar den

    Like

    December 2, 2012
  7. achi shikh deti hai yah choti si story ,

    Like

    December 15, 2012
  8. Sourabh sharma #

    behad rochak lekh

    Like

    February 24, 2013
  9. Saurabh #

    Perfect !!!

    Like

    June 12, 2013
  10. apne jo kahan vo sab sach hai zindagi sahanshilta ke bina adhuri aur asafal hai…..insaan sahanshilta se sab kuch pa sakta hai

    Like

    June 26, 2013

टिप्पणी देने के लिए समुचित विकल्प चुनें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

Follow

Get every new post delivered to your Inbox.

Join 3,509 other followers

%d bloggers like this: