What is Your Four Minute Mile? – आपका लक्ष्य क्या है?

कई दशकों तक सभी यह मानते रहे कि कोई भी व्यक्ति 4 मिनट में 1 मील नहीं दौड़ सकता. लोगों ने कहा, “ऐसा हो ही नहीं सकता”! वैज्ञानिक और चिकित्सकों ने मानव शरीर की सीमाओं और क्षमताओं का आकलन करके यह बताया कि 4 मिनट में 1 मील दौड़ पाना संभव नहीं था. उनके अनुसार इसके लिए उपयुक्त गति तक पहुँचने से पहले ही शरीर धराशायी हो जाता. सभी ने यह मान लिया : 4 मिनट में 1 मील दौड़ना असंभव है.

लेकिन सबको इस बात पर यकीन नहीं था. 4 मिनट में 1500 मीटर (एक मील में 1600 मीटर होते हैं) दौड़ने का रिकार्ड तोड़ने के बाद रोजर बैनिस्टर को यह लगने लगा कि वह ऐसा कर सकता है. उसने अपने मन में यह ठान लिया कि वह 4 मिनट में 1 मील दौड़कर दिखाएगा. उसके आत्मविश्वास ने ही असंभव को संभव कर दिखाया. उसने यह रिकार्ड बनाने की दिशा में प्रयत्न करना शुरू कर दिया.

और 6 मई, 1954 के दिन यह संभव हो गया:

रोजर बैनिस्टर ने यह कर दिखाया. उसने 4 मिनट में 1 मील दौड़कर वह रिकार्ड बना दिया जिसे सब असंभव मानते थे. उसने दुनिया को बता दिया कि ऐसा भी हो सकता है. उसने अपनी दौड़ 3 मिनट और 59.4 सैकंड में पूरी की. इसके 6 हफ्ते बाद ही एक औस्ट्रेलियन जौन लैंड्री ने यह दौड़ 3 मिनट 58 सैकंड में पूरी की. 1957 की समाप्ति से पहले सोलह धावक 4 मिनट से कम में 1 मील दौड़ चुके थे. अब तो हजारों धावक 4 मिनट में 1 मील दौड़ चुके हैं. कुछ धावक तो हर दिन अभ्यास दौड़ में ऐसा कर लेते हैं. इस दौड़ का विश्व रिकॉर्ड मोरक्कन धावक हिचाम एल गेरोज़ के नाम है जिसने 7 जुलाई 1999 को 1 मील की दौड़ 3 मिनट 43.13 सेकंड में पूरी की. 1997 में कीनिया के डेनियल कोमेन ने 8 मिनट से कम में 2 मील की दौड़ पूरी की.

आपके जीवन का वह कौन सा लक्ष्य है जिसे सभी असंभव मानते हैं? लोग बहुत सी बातें करते होंगे और आपको बताते होंगे कि आप यह नहीं कर सकते या वह नहीं कर सकते. उनकी बातें सुनकर शायद आप भी वही मानने लगे होंगे. हो सकता है आपने जीवन में कभी कोई लक्ष्य बनाए हों जिन्हें आपने बीच रस्ते ही छोड़ दिया या उनकी राह में पहला कदम भी नहीं बढ़ाया. शायद आपने किसी ख़ास नौकरी की चाह की थी. आप कोई किताब लिखना चाहते थे. आपका लक्ष्य कोई सेल्स टार्गेट भी हो सकता है और किसी ख़ास हुनर में कामयाबी पाना भी. आपका ‘4 मिनट में 1 मील’ कोई ऐसी चीज़ हो सकती है जिसे बहुत से लोग पहले ही कर चुके हैं, लेकिन आप अभी भी इसे असंभव मानते हैं. आपको यह जान लेना है कि यह लक्ष्य असंभव नहीं है और आप यह कर सकते हैं. आप भी अपना ‘4 मिनट में 1 मील’ पूरा कर सकते हैं.

For years people believed it was impossible. It was impossible that a man could run a mile in under four minutes. Doctors and Scientists said that the human body could not possibly achieve such a feat; some suggested that the body would break apart before such a speed could be reached. Everyone agreed: the four minute mile was not possible.

Well, not quite everyone. After breaking the 1500m record (the mile is 1600m) Roger Bannister started to believe. He started to believe that the four minute mile could be broken. And that belief made all the difference.It led to increased training and an all out effort to break the barrier.

Then on May 6, 1954 this happened:

Roger Bannister had done it. He had broken the four minute mile; a barrier thought impossible. Now he had proven that it could be done. Other people now had the evidence that the four minute mile could be broken. Other people had the belief.

In the days and years that followed, that belief turned into results:

  • Just 46 days later Jim Landry of Australia broke the record again.
  • Less than two months after that both Landry and Bannister both broke four minutes in the same race
  • Since then thousands of people have run the mile in under four minutes
  • In the next 30 years the record was broken 16 more times
  • The record now stands at 3 minutes and 43 seconds
  • Even high school students have broken the four minute mile
  • In 1997 Daniel Komen of Kenya double the feet running TWO miles in LESS THAN EIGHT minutes.

Each of these feats took Roger Bannister breaking the record to show the way. To show them that it was possible. To break the barrier that others had put up. Once the barrier was broken by Bannister, everyone else followed suit.

What is your “Four Minute Mile”?

What is the thing in your life that everyone thinks is impossible? What is the thing that you keep hearing can’t be done? Maybe you even believe it. Perhaps it is a goal you have given up on, or a sales target you think can’t be achieved. It might be the next step to success in your field.

Your four minute mile might even be something that others have accomplished. It just might seem impossible to you. You need to treat this goal as a four minute mile, and know you can do it, that you can break your four minute mile.

“Every time I ran the mile I was aware of my own weakness, there was some opponent who could give me a hell of a fight, so I never went into a race with a sense of invincibility. I always had that feeling of fragility and nerves which made me run faster.” – Roger Bannister.

To read more of this post click here.

About these ads

6 Comments

Filed under प्रेरक लेख

6 responses to “What is Your Four Minute Mile? – आपका लक्ष्य क्या है?

  1. rahul kumar guru

    Lakshy ko nirdharit kar imandari se kiya gaya prayash safal hota hi hai

    Like

  2. जब होड़ समय से मची हो तो मानवीय क्षमतायें प्रस्फुटित होने लगती हैं।

    Like

  3. p k debnath

    bahut bahut acha hai aur joshila bhi

    Like

  4. indiasmart

    प्रेरक आलेख! सचमुच हमारी सीमा वहीं तक है जहाँ हम रुक जायें। मन के हारे हार है …

    Like

  5. लक्ष्य को पाया जा सकता है बशर्ते पाने की ललक और इक्षा शक्ति हो .बैठे ठाले कुछ भी नहीं

    Like

टिप्पणी देने के लिए समुचित विकल्प चुनें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s